Roar for Tigers

यूपी को जल्द मिल सकता है चौथा टाइगर रिजर्व

यूपी को जल्द मिल सकता है चौथा टाइगर रिजर्व

Jan 20, 2015

उत्‍तर प्रदेश को जल्द ही अपना चौथा टाइगर रिजर्व मिल सकता है। प्रदेश सरकार ने बुंदेलखंड के चित्रकूट में रानीपुर वन्यजीव अभ्यारण्य को विकसित करने का प्रस्ताव तैयार किया है। मध्य प्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व से सटा होने के कारण ये इलाका बाघ बाहुल्य है। पन्ना टाइगर रिजर्व से सटे होने के कारण कई बार रानीपुर में बाघों की आवाजाही देखी गई है। यहां अक्सर बाघों के पग मार्क भी देखे जाते हैं। पन्ना और रानीपुर वन क्षेत्र एमपी और यूपी की 150 किलोमीटर लम्बी सीमा से सटे हैं। लिहाजा 250 वर्ग किलोमीटर के इस वन क्षेत्र को सेंचुरी बनाने पर विचार किया जा रहा है।

यूपी को जल्द मिल सकता है चौथा टाइगर रिजर्व, बुंदेलखंड में बढ़ेगा पर्यटन उद्योग

यूपी सरकार ने इस नए टाइगर रिजर्व का प्रस्ताव नेशनल टाइगर कन्जर्वेशन अथॉरिटी और नेशनल बोर्ड ऑफ वाइल्ड लाइफ को भेजा है और इन केन्द्रीय एजेंसीज से हरी झंडी मिलते ही यूपी के चौथे टाइगर रिजर्व का काम शुरू हो जएगा। फिलहाल, उत्तर प्रदेश में लगभग सौ बाघ हैं जो लखीमपुर के दुधवा, पीलीभीत और बिजनौर के अमनगढ़ के तीन टाइगर रिजर्व में हैं। हालांकि, रानीपुर में फिलहाल पन्ना के भटके बाघ ही हैं। लेकिन यहां तेंदुए, चिंकारा, चौसिंघा और हिरण जैसे वन्यजीवों की दुर्लभ प्रजातियों का बाहुल्य है। यानि इस वनक्षेत्र में बाघों के फलने-फूलने की पूरी संभावना है। माना जा रहा है कि रानीपुर टाइगर रिजर्व बनने से बुंदेलखंड में पर्यटन का विकास हो सकेगा।

 

 

As posted in Navbharattimes.indiatimes.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *