Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिजर्व की हरीपुर रेंज में बाघिन के साथ दिखाई दिए दो शावक

पीलीभीत टाइगर रिजर्व की हरीपुर रेंज में बाघिन के साथ दिखाई दिए दो शावक

Jul 28, 2015

पीलीभीत। पीलीभीत के टाइगर रिजर्व की हरीपुर रेंज में तीन साल से सूनी पड़ी बाघ की मांद में एक बार फिर दो शावकों की आमद हुई है। इस रेंज में दो बाघों की हत्या कर दी गई थी तब से मांद खाली थी। हालांकि गणना में लगे कैमरों में इनकी हाजिरी नहीं लगी है लेकिन बीट में लगे कर्मियों की निगाह में ये शावक आए हैं। टाइगर रिजर्व की हरीपुर रेंज में वर्ष 2012 में 24 घंटे के भीतर दो बाघों की हत्या कर दी गई थी। इतनी बड़ी घटना को लेकर समूचे महकमे में हड़कंप मचा रहा था। रेंज के लिए यह मामला किसी अभिशाप से कम नहीं था। घटना से बाघ की मांद भी सूनी पड़ गई थी। तीन साल बाद अब मांद आबाद हुई है। रेंज की ढक्काचाट बीट में दो शावक अपनी मां के साथ विचरण करते देखे गए हैं। इनकी अवस्था करीब दो माह होगी। सुरक्षा को लेकर उस बीट में निगरानी को बढ़ा दिया गया है।

25_07_2015-lcub

वनाधिकारी हरीपुर रेंज आरपी सिंह रैतोला  कहना है कि हरीपुर रेंज की ढक्का बीट में दो शावकों के साथ बाघिन को देखा गया है। हालांकि नजारा कैमरे में कैद नहीं हो सका है। निगरानी बढ़ा दी गई है।अध्यक्ष टरक्वाइज वाइल्ड लाइफ कंजर्वेशन सोसाइटी अख्तर मियां खां ने बताया कि हरीपुर रेंज कभी बाघों की हत्या के लिए मशहूर हुई थी। अब एकसाथ दो शावक देखा जाना काफी सुखद एहसास है। इस रेंज में बाघों की संख्या पौन दर्जन तक पहुंचने का अनुमान है।

As posted in Jagran.com
468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *