Roar for Tigers

पीलीभीत में महचंदी, बेहरी के बीच खेतों में दिखी बाघिन

पीलीभीत में महचंदी, बेहरी के बीच खेतों में दिखी बाघिन

Feb 23, 2014

पीलीभीत : अमरिया ब्लाक क्षेत्र के गांव महचंदी एवं बेहरी के बीच खेतों में बाघिन को घूमते देखा गया। इससे ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। किसान अपने खेतों पर जाने से डर रहे हैं। उधर, विश्व प्रकृति निधि की ओर से पिछले दिनों बाघ के हमले में घायल ग्रामीण को इलाज के लिए पांच हजार रुपये की सहायता मुहैया कराई गई है। अमरिया क्षेत्र के शुक्ला फार्म, गजरौला फार्म से लेकर मझोला के निकट स्थित पेरी फार्म तक एक बाघिन को शावकों के साथ गन्ने के खेतों तथा नरकूल की झाड़ियों में घूमते हुए कई महीनों से देखा जाता रहा है। अब बाघिन ने महचंदी व बेहरी गांव के निकट खेतों पर दस्तक दी है। गत शनिवार की शाम खेतों से लौट रहे कुछ ग्रामीणों ने बाघिन को चहलकदमी करते देखा तो दहशत के कारण गांव की ओर भाग खड़े हुए। सुबह तमाम ग्रामीण इकट्ठे होकर उन्हीं खेतों के पास पहुंचे लेकिन बाघिन दिखाई नहीं दी। ग्रामीणों को आशंका है कि बाघिन गन्ने के किसी खेत में छुप गई है। ऐसे में गन्ना काटने वाले मजदूरों के लिए खतरा बढ़ गया है। ग्रामीणों का कहना है कि वन विभाग एवं विश्व प्रकृति निधि के अफसरों को इसकी सूचना भेजी गई है। उधर, विश्व प्रकृति निधि के परियोजना अधिकारी नरेश कुमार का कहना है कि सूचना तो मिली है, लेकिन आज अवकाश होने की वजह से टीम मौके पर नहीं भेजी जा सकी। सोमवार को टीम भेजकर जांच कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों बाघ के हमले में घायल माधोटांडा क्षेत्र के गांव बांसखेड़ा निवासी प्रताप को भी इलाज के लिए पांच हजार रुपये की आर्थिक सहायता मुहैया कराई गई है।

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *