Roar for Tigers

शाम 6 बजे हुई थी बाघ की मौत

शाम 6 बजे हुई थी बाघ की मौत

Dec 6, 2013

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बाघ की मौत का भले ही कारण स्पष्ट न हो सका हो परन्तु यह बात तय हो गई कि उसकी मौत मंगलवार को शाम छह बजे ही हो गई थी। घटना का समय ज्ञात होने के बाद से घटनास्थल के आसपास सघन तलाशी अभियान शुरू कर कांबिंग भी कराई जा रही है। पीलीभीत के घोषित रिजर्व फारेस्ट एरिया में नर बाघ का शव मिला था। अधिकारियों ने रात में शव बरेली पीएम के लिए भेज दिया था। पीएम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट नहीं हुआ है। अब बाघ के कई अंगों का बारीकी से परीक्षण किया जाएगा। पीएम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। इस बात की पुष्टि जरूर हो गई है कि बाघ मंगलवार की शाम छह बजे ही काल के गाल में समा गया था। घटना का समय तय होने के बाद से ही इसको लेकर कई सवाल खड़े हो गए हैं। सवाल यह है कि गश्त लगातार हो रही थी तो उस दिन बाघ पहले क्यों नहीं दिखा या फिर बाघ कहीं दूर से कुछ खाकर तो नहीं आया था। पीएम रिपोर्ट में यह भी आया है कि मरने से पहले उसने हिरन को खाया था हो सकता है कि शिकारियों ने बाघ को मारने के लिए हिरन को मोहरा बनाया हो क्योंकि बाघ का प्रिय भोजन हिरन माना जाता है। डीएफओ एके सिंह कहते हैं कि बाघ के मारने का समय स्पष्ट होने के बाद से गश्त बढ़ा दी गई है और घटनास्थल के पांच सौ मीटर के दायरे में सघन तलाशी की जा रही है, लेकिन सफलता नहीं मिली है।

साभार– जागरण

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *