Roar for Tigers

घरों में घुसकर बाघ के हमले से थर्रा उठे लोग

घरों में घुसकर बाघ के हमले से थर्रा उठे लोग

Nov 3, 2014

हजारा। क्षेत्र में कई दिनाें से घूम रहे बाघ अब लोगों के घरों में घुसकर हमला करने लगा है। इससे क्षेत्रवासियों में दहशत व्याप्त हो गई है। वन विभाग द्वारा ध्यान न देने से नाराज लोगों ने नार्थ खीरी वन विभाग संपूर्णानगर के खिलाफ प्रदर्शन कर विरोध जताया और बाघ को पकड़वाने की मांग की।
संपूर्णानगर (खीरी) वन रेंज के हजारा बीट से हफ्ते भर से बाघ जंगल के बाहर निकल कर खेत-खलिहानों में घूमते देखा जा रहा है। वह शास्त्रीनगर के मुखतियार सिंह का पड्डा एवं बाबू की भैंस तथा कई नीलगाय पर हमला कर अपना निवाला बना चुका है। शनिवार की शाम बाघ हजारा गांव के कटान पीड़ित फूल चंद के घर के बाहर बाघ पहुंच गया और उसने पालतू कुत्ते पर हमला कर दिया। बाघ देख घर वाले सहम गए।
बाघ के आबादी तक आने से लोगों में दहशत व्याप्त हो गई है। ग्रामीणों की सूचना के बाद भी वन कर्मचारियों के मौके पर न पहुंचने से ग्रामीणों में रोष देखा गया। गुस्साए लोगों ने वन विभाग के खिलाफ प्रदर्शन किया और नारेबाजी की। इस दौरान रामविलास, रामभरोसे, शंकरलाल, मनीष कुमार, सूरज कुमार, छात्रपाल, रामदेवी, कुसमा देवी, ऊषा देवी, अर्चना, लक्ष्मी के अलावा सिद्धनगर के पूर्व बीडीसी ग्यासुद्दीन खां, शास्त्रीनगर के पूर्व प्रधान सुरेश कुमार समेत कई लोग मौजूद रहे। उधर वनक्षेत्राधिकारी संपूर्णानगर वीके गुप्ता ने बताया कि बाघ आने की सूचना मिली है। मौके पर वनकर्मियों को भेजा गया है। अफसरों को भी सूचना दी गई है।
बाघ की फिर शुरू हुई चहलकदमीः
माधोटांडा।कस्बे से सटे इलाके में बाघ की चहलकदमी एक बार फिर बढ़ गई है। पिछले दो दिनों से बाघ आबादी के क्षेत्र तक चहलकदमी करने लगा है। एक पखवाड़ा पूर्व तक खारजा नहर से निकलकर बाघ खेतों से होता हुआ आबादी क्षेत्र में देखा गया था लेकिन पिछले कई दिनों से उसकी चहलकदमी दिखाई नहीं दे रही थी। इधर दो दिनों से बाघ ने पुन: दस्तक दी है। बाघ नहर से आबादी क्षेत्र तक लगातार चहलकदमी करते देखा जा रहा है। किसान नर्सरी के रहीस, शाहिद शाह, मुरली और सरताज ने बताया कि वह पिछली दो रातों से बाघ को देख रहे हैं लेकिन अभी तक वन विभाग ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया है। जिससे ग्रामीणों में दहशत है।
As posted in Amarujala.com
468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *