Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिजर्व में 250 कैमरों से पूरी हुई बाघों की गणना

पीलीभीत टाइगर रिजर्व में 250 कैमरों से पूरी हुई बाघों की गणना

Jul 12, 2015

पीलीभीत। पीलीभीत टाइगर रिजर्व में वर्तमान समय में कितने बाघ विचरण कर रहे हैं, इसकी संख्या जल्द ही सामने आ जाएगी। बाघों की संख्या की सही स्थिति जानने के लिए विभाग की ओर से की जा रही गणना दो चरणों में 250 कैमरों की मदद से पूरी की जा चुकी है। अब कैमरों का डाटा डाउनलोड किया जा रहा है। जिसको वन्यजीव संस्थान देहरादून एवं एनसीटीए के विशेषज्ञों द्वारा मिलान करने के बाद संख्या की घोषणा की जा सकेगी। पीलीभीत का जंगल गत वर्ष नौ जून 2014 को टाइगर रिजर्व घोषित कर दिया गया था। इसके बाद जंगल में बाघों की संख्या जानने के लिए डबलयूडबलयूएफ ने विभागीय टीम के सहयोग से समस्त रेंजों में गणना की तैयारी की।


– कैमरों की डाउनलोडिंग शुरू, सितंबर में हो सकती है घोषणा
– वन्यजीव संस्थान देहरादून एवं एनसीटीए के विशेषज्ञ करेंगे मिलान

अप्रैल माह के पहले सप्ताह में बराही और हरीपुर रेंज के अलावा दुधवा नेशनल पार्क की किशनपुर सेंचुरी को भी तीसरी आंख की जद में लेकर  गणना शुरू की। इसके लिए करीब 250 कैमरों का इस्तेमाल किया गया। इकतीस मई को पहले चरण का काम पूरा होने के बाद, बकाया महोफ माला, दियोरिया रेंज में गणना कराई गई। लगातार विभागीय टीम पेट्रोलिंग कर निगरानी में जुटी रही। साठ-साठ दिनों की दो चरणों की गणना अब पूरी कर ली गई है। अब जंगलों से कैमरों को खोलना भी शुरू कर दिया गया है। कैमरों की चिप को कंपयूटर में फीड किया जा रहा है। कैमरा ट्रैप के जरिए की गई गणना में चिप लोडिंग करने के बाद वन्यजीव संस्थान देहरादून एवं एनसीटीए के विशेषज्ञों को भेजा जाएगा। जहां पर कैमरे में कैद हुए फोटो का मिलान कर बाघों की संख्या का पता लगाया जाएगा। डाटा लोड करने के बाद संस्थान को जुलाई माह के अंत तक भेजा जाएगा। अनुमान लगाया जा रहा है कि करीब दो महीने यानि सितंबर में काम पूरा कर बाघों की सही संख्या सामने आ सकेगी। वहीं विभागीय अधिकारियों के मुताबिक इसमें पहले से अधिक संख्या सामने आने की उम्मीद है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व के डीएफओ कैलाश प्रकाश ने बताया कि कैमरों के जरिए गणना काम पूरा कर लिया गया है। विशेषज्ञों के मिलान के बाद सही संख्या सामने आ सकेगी।

 

-मुख्य संवाददाता वैभव शुक्ला की रिपोर्ट

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *