Roar for Tigers

बाघ संरक्षण के लिए पीलीभीत में चलेगा महाअभियान

बाघ संरक्षण के लिए पीलीभीत में चलेगा महाअभियान

Oct 1, 2014

पीलीभीत : बाघ संरक्षण के लिए 10 दिवसीय महा अभियान चलाया जाएगा। इस दौरान लोगों को पीलीभीत टाइगर रिजर्व के फायदे बताने के साथ ही उन्हें वन्य जीव संरक्षण से जोड़ने की मुहिम चलाई जाएगी। महाअभियान रथ यात्रा की शुरुआत बरेली महानगर से होगी, जिससे पूरे प्रदेश में इसका संदेश पहुंचाया जा सके। पीलीभीत टाइगर रिजर्व के प्रभागीय कार्यालय सभागार में हुई प्रेस कांफ्रेंस में डीएफओ कैलाश प्रकाश ने कहा कि यहां वन प्रभाग का पहली बार गठन 1895 में हुआ था। यहां के जंगल बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। जंगल में बाघ समेत दूसरे प्रकार के वन्य जीवों का वास है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2008 में पीलीभीत टाइगर रिजर्व बनाने के प्रयास शुरू हुए थे, जिसे विगत जून में सफलता मिल गई। उन्होंने कहा कि बाघ संरक्षण रथ यात्रा का मुख्य उद्देश्य लोगों को यहां के जंगल और बाघों के महत्व से परिचित कराकर संरक्षण के लिए उनका सक्रिय सहयोग हासिल करना है। विश्व प्रकृति निधि के कोआर्डिनेटर डा. मुदित गुप्ता ने टाइगर रिजर्व की उपयोगिता पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि यहां के जंगल और बाघ समेत दूसरे वन्य जीवों का संरक्षण बहुत जरूरी है।

86555793

इसी के प्रति जागरुकता पैदा करने के लिए यह रथ यात्रा शुरू की जा रही है। बरेली महानगर से रथ यात्रा शुरू करने का मकसद पीलीभीत टाइगर रिजर्व का संदेश पूरे प्रदेश में पहुंचाना है। इस मौके पर डब्ल्यूडब्ल्यूएफ के डा. कमलेश ने प्रोजेक्टर के माध्यम से जंगल और वन्य जीवों की विविधता के बारे में जानकारी दी। परियोजना अधिकारी नरेश कुमार ने बाघ संरक्षण से जन सामान्य को जोड़ने पर बल दिया। बताया गया कि पहली अक्तूबर को बरेली महानगर में बाघ संरक्षण रथ यात्रा घूमेगी। उसी दिन शाम साढ़े चार बजे डीएफओ समेत अन्य अधिकारी एवं संस्था के सदस्य खमरिया पुल पर रथयात्रा की अगवानी करेंगे। इसके बाद रथयात्रा पूरे जिले में भ्रमण करेगी। इस दौरान शिक्षण संस्थाओं में विचार गोष्ठी, फिल्म शो, प्रश्नोत्तरी व चित्रकला प्रतियोगिताएं कराई जाएंगी। ग्यारह अक्तूबर को पीलीभीत टाइगर रिजर्व मुख्यालय पर समापन समारोह होगा। यह महा अभियान पीलीभीत टाइगर रिजर्व एवं विश्व प्रकृति निधि के संयुक्त तत्वावधान में चलाया जाएगा।

 

 

As posted in Jagran.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *