Roar for Tigers

निलंबन के विरोध में पीलीभीत टाइगर रिजर्व के वन कर्मियों खोला मोर्चा

निलंबन के विरोध में पीलीभीत टाइगर रिजर्व के वन कर्मियों खोला मोर्चा

Aug 1, 2014

पीलीभीत : वन विभाग में बड़े पैमाने पर अफसरों व कर्मियों पर हुई निलंबन की कार्रवाई से हड़कंप मचा हुआ है। इस कार्रवाई से कर्मचारी आक्रोशित हो उठे और मोर्चा खोलते हुए प्रदर्शन किया गया। गुरुवार को जैसे ही यह सूचना आई कि एसडीओ समेत तीन रेंजर, दो डिप्टी रेंजर, पांच वन दरोगा और ग्यारह वन रक्षकों को निलंबित कर दिया गया है तो कर्मचारी आक्रोशित हो उठे। उन्होंने कार्यालय के गेट एकत्र होकर निलंबन की कार्रवाई के विरोध में जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी कर्मियों ने कहा कि निलंबन की कार्रवाई एकतरफा ढंग से कर दी गई। यह तो स्पष्ट किया जाना चाहिए कि जंगल में कहां-कहां अवैध कटान हुआ है। इस बारे में जांच रिपोर्ट में कुछ भी स्पष्ट नहीं है। इसके अलावा उन्हें न तो कोई नोटिस दिया गया और न ही स्पष्टीकरण का मौका। सीधे निलंबन की कार्रवाई किया जाना उनके साथ घोर अन्याय है। अब न्याय पाने के लिए वह कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे। निलंबित किए गए अफसरों ने खुलकर विरोध प्रदर्शन से पूरी तरह परहेज किया लेकिन उनके बीच इस बात पर चर्चा होती रही कि वास्तव में जंगल के अंदर तो कोई अवैध कटान हुआ ही नहीं है।
 
बल्कि कुछ समय पहले वन निगम ने कुछ सूखे वृक्षों को नियमानुसार चिन्हित कराने के बाद कटान कराया। वन निगम के कटान और अवैध कटान के अंतर को समझे बगैर ही निलंबन की कार्रवाई की गई। इसके लिए तो विभाग की ओर से तकनीकी पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच होनी चाहिए।विभाग के दर्जनों कर्मियों ने प्रभागीय वनाधिकारी कार्यालय गेट पर एकत्र होकर निलंबन की कार्रवाई के विरोध में जमकर हुंकार भरी और नारेबाजी की।

As posted in Jagran.com
468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *