Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में सुविधा बढ़े तो आएंगे देश्‍ाी-विदेशी सैलानी

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में सुविधा बढ़े तो आएंगे देश्‍ाी-विदेशी सैलानी

Nov 25, 2014

माधोटांडा। सरकार की मंशा के चलते जल्दबाजी में जनपद का जंगल तो टाइगर रिजर्व घोषित कर दिया गया लेकिन यहां दुधवा नेशनल पार्क की तरह अभी तक कोई सुविधाएं दिखाई नहीं हैं। इसके कारण उत्साह के साथ आने वाले देशी-विदेशी सैलानी मायूस होकर लौट जाने को विवश हो जाते हैं। लोगों के अनुसार दुधवा पार्क की तरह शुल्क निर्धारित करने से पूर्व यहां वह सुविधाएं भी मिलनी चाहिए मसलन सैलानियों के घूमने के लिए वाहन, गाइड और हाथी आदि की व्यवस्था होनी चाहिए, जो यहां नहीं हैं। ऐसे में सैलानियों को जंगल के राजा शेर के दर्शन होना टेढ़ी खीर साबित होगा।

मायूसी लग रही है हाथ

पिछले दो दिनों में आने वाले सैलानियों को चूका बीच में आकर मायूसी ही हाथ लगी है। चूका बीच में बनी हटों का नजारा उन्हें सिर्फ बाहर से ही देखने को मिल पा रहा है। उनके मुताबिक कम शुल्क लेकर हटों के भीतर जाकर देखने को मौका दिया जाना चाहिए।

2012112101615811
बाघ के दर्शन होना लक की बात

दौरे पर आए पूर्व मुख्य वनसंरक्षक एमपी सिंह ने चूका बीच में कहा था कि टाइगर के दर्शन होना लक की बात है। विभाग में ही 30 से 35 ऐसे लोग हैं जिन्हें अभी तक बाघ के दर्शन नहीं हुए हैं, लेकिन आने वाले दिनों में पूरी संभावना है।

आजादी से पहले भी मशूहर था जंगल

जनपद का जंगल आजादी से पूर्व भी पूरे यूरोप में प्रसिद्ध था। 1870 ईसवी में मल्लिका-ए-विक्टोरिया के बड़े बेटे प्रिंस ऑफ वेल्स, उनके बाद लार्ड म्यूज्जल सेलेमन और 1896 ईसवीं में भारत के कमांडर इन चीफ लार्ड कैचेज यहां आए थे। लार्ड कैचेज ने 14 दिन के कैंप में 23 शेर व चार गुलदारों का शिकार किया था। कर्नल सेलेमन ने अपनी पुस्तक फ्राम राइफल टू कैमरा मेें यहां के शेरों की संख्या और शिकार का उल्लेख किया है। यह बात दीगर है कि अब शिकार पर प्रतिबंध है लेकिन सैरसपाटे की बेहतर सुविधा मिल जाने पर यह जंगल विदेशी सैलानियों को दुधवा नेशनल पार्क से अधिक पसंद आएंगे।

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व के डीएफओ कैलाश प्रकाश के मुताबिक इस मामले में टाइगर रिजर्व बनने के बाद अभी तक बजट प्राप्त नहीं हो सका है। बजट मिलते ही पीलीभीत के जंगल और पिकनिक स्पाटों पर सुविधा मुहैय्या कराई जाएगी।

 

 

 

As posted in Amarujala.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *