Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में अब भी लगे हैं वन्य जीव विहार के बोर्ड

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में अब भी लगे हैं वन्य जीव विहार के बोर्ड

Sep 15, 2014

पीलीभीत : जिले के वनों को टाइगर रिजर्व घोषित किया जा चुका है लेकिन जंगल किनारे अभी तक वन्य जीव विहार के ही बोर्ड लगे हुए हैं। इन्हें बदलने की जरूरत वन विभाग ने नहीं समझी है। उधर शाम को सूर्यास्त से सूर्योदय तक जंगल में प्रवेश प्रतिबंधित करने से भी जंगल किनारे बसे लोग परेशान हैं। जिले के वनों को कई माह पहले वन्य जीव विहार घोषित किया गया था। तब जंगल के किनारे के मार्गो पर वन्य जीव विहार के बोर्ड लगाए गए थे। बाद में जंगल को टाइगर रिजर्व घोषित कर दिया गया लेकिन इन बोर्डो को अभी तक नहीं बदला गया है। मुझा से मझारा जाने वाले मार्ग पर दोनों तरफ एवं दुर्जनपुर रोड पर मालिन कुंइयां चौकी के पास लगे बोर्डो पर वन्य जीव विहार लिखा देखकर लोग असमंजस में पड़ जाते हैं। उधर इन बोर्डो पर डीएफओ का एक आदेश भी लिया है कि शाम 6 से सुबह 6 बजे तक यानी रात के समय जंगल में प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया गया है। ऐसा डीएफओ के आदेश से करना बताया गया है।

जंगल किनारे बसने वाले लोग इस बात से परेशान हैं कि आखिर रात को कोई अचानक बीमार हो गया या कोई अन्य आपदा आ गई तो वे जंगल में कैसे घुसेंगे। जंगल में रात को घुसने पर कार्रवाई के डर से लोग सहमे हुए हैं। पीलीभीत टाइगर रिज़र्व के डीएफओ के कैलाश प्रकाश के मुताबिक  जंगल में लगे वन्य जीव विहार के बोर्ड शीघ्र बदलवाकर टाइगर रिजर्व के बोर्ड लगवाए जाएंगे। अगर किसी को रात को आवश्यक कार्य से जंगल में प्रवेश करना हो तो संबंधित रेंज अफसर को सूचना देकर आ जा सकते हैं।

 

 

As posted in Jagran,com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *