Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व के जंगल में टॉर्च के जरिए होगी शिकारियों पर निगाहबानी

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व के जंगल में टॉर्च के जरिए होगी शिकारियों पर निगाहबानी

Feb 9, 2015

लखनऊ। आए दिन वन्य जीवों को शिकार कर रहे शिकारियों पर वन्य विभाग लगाम नहीं लगा पाया है। लेकिन अब उसने दिन के अलावा रात में भी निगरानी तेज करने की ठानी है। इसके लिए अब पीलीभीत टाइगर रिजर्व ने जंगल क्षेत्रों में चोरी छिपे घूमने वाले शिकारियों पर निगाह रखने के लिए रात को टॉर्च का सहारा लेने की योजना बनाई है। टॉर्च की खेप टाइगर रिजर्व के दफ्तर पहुंच गई है। जल्द ही इनका वितरण वन कर्मियों को किया जाएगा। दरअसल पीलीभीत टाइगर रिजर्व को अब तक डब्ल्यूडब्ल्यूएफ से आर्थिक सहायता मिलती थी लेकिन अब अब नेशनल टाइगर कंजरवेशन अथॉरिटी से भी आर्थिक मदद मिलनी शुरू हो गई है। इस धनराशि से सेव टाइगर मुहिम को धार दी जा रही है। इस दिशा में टाइगर रिजर्व में काम शुरू हो गया है।

ddd

अभी जंगल क्षेत्र में गश्त करने वाले वन कर्मचारियों के पास सीमित संसाधन थे। इस वजह से बेहतर गश्त नहीं हो पा रही है, लेकिन अब टाइगर रिजर्व में नाइट पेट्रोंलिंग के लिए वन कर्मचारियों को कोई दिक्कत नहीं होगी। रात में जंगल गश्त करने वाले वन कर्मचारियों को टॉर्च प्रदान की जाएगी। प्रभागीय वनाधिकारी कार्यालय में टार्च की खेप पहुंच चुकी है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व के प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश ने बताया कि वन कर्मचारियों को बांटी जाने वाली टॉर्च और बैग प्राप्त हो गए हैं। इनका वितरण जल्द ही करा दिया जाएगा। टॉर्च मिलने के बाद नाइट पेट्रोलिंग में और तेजी आएगी।

As posted in Tarunmitra.in
468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *