Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में इंडो-नेपाल सीमा पर बर्दाश्त नहीं होगी घुसपैठ और तस्करी

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में इंडो-नेपाल सीमा पर बर्दाश्त नहीं होगी घुसपैठ और तस्करी

Feb 20, 2015

माधोटांडा (पीलीभीत ) : तहसील से जुड़ने वाली नेपाल सीमा से तस्करी और घुसपैठ किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सब कुछ दुरुस्त करके सीमा की निगरानी की जाए ताकि घुसपैठ या तस्करी करने वाले इस तरफ का रुख न करें। यह बात मंडलायुक्त प्रियांशु कुमार यादव व डीआइजी आरकेएस राठौर ने चूका में हुई समीक्षा बैठक में कही। बरेली मंडलायुक्त एवं डीआइजी ने गुरुवार को दोपहर में पीलीभीत टाइगर रिजर्व के चूका पिकनिक स्पॉट पर पुलिस, प्रशासन, एसएसबी एवं जंगलात के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करने पहुंचे। कमिश्नर व डीआईजी ने कहा कि नेपाल सीमा से घुसपैठ एवं तस्करी की आशंका बनी रहती है। इस पर कड़ी नजर रखी जाए। एसएसबी अधिकारियों को और अधिक सतर्क रहने को कहा। डीआईजी ने एसपी से कहा कि प्रदेश स्तर पर माल का निस्तारण एवं लंबित विवेचनाएं निपटाने का अभियान चल रहा है। इसे शीघ्र पूरा किया जाए। क्राइम कंट्रोल की भी समीक्षा की गई। जिले की हालत इस मामले में ठीक बताई गई लेकिन और अधिक सुधार करने को कहा। सीमा की सुरक्षा की भी समीक्षा की गई। अंतर्राष्ट्रीय सीमा के गायब पिलरों के बारे में अधिकारियों ने जानकारी लेकर इन्हें लगवाने को कहा। डीआइजी एसएसबी केपी सिंह ने मंडलायुक्त को सीमा पर किए गए सुरक्षा इंतजाम के बारे में विस्तृत जानकारी दी। बैठक में बताया गया कि चूंकि पूरी अंतर्राष्ट्रीय सीमा खुली है। कई जगह सघन जंगल व नदी आदि भी हैं। सीमांत क्षेत्र के लोगों की दोनों ओर आवाजाही भी रहती है। इसका लाभ उठाकर कई बार तस्कर व अन्य असामाजिक तत्व इधर से घुसपैठ की कोशिश करते हैं। ऐसी घुसपैठ को रोकने के लिए स्थानीय लोगों की भी मदद ली जाती है। बैठक में जिलाधिकारी ओम नारायण सिंह, एसपी जेके शाही, एसएसबी कमाडेंट जेपी राना, डीएफओ कैलाश प्रकाश, एडीएम, एसडीएम संजय कुमार, एएसपी सुधीर कुमार सहित खुफिया, कस्टम, एलआईयू, आबकारी, आयकर सहित कई विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

 

uptcp-monitoring

अफसरों ने की जंगल की सैर, दिखा चीतल

अधिकारियों ने समीक्षा बैठक के साथ टाइगर रिजर्व की सैर भी की। महोफ वनरेंज में अधिकारी बाघ देखने निकले लेकिन चीतल के दीदार होना बताया गया। बाद में जंगल के रास्ते ही अधिकारी जिला मुख्यालय रवाना हो गए।

बंद रहा पर्यटकों का प्रवेश

मंडलभर के अधिकारी टाइगर रिजर्व के सुप्रसिद्ध चूका पिकनिक स्पॉट पर बार्डर की सुरक्षा को लेकर समीक्षा बैठक कर रहे थे। इसलिए चूका में गुरुवार को पर्यटकों का प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंधित किया गया था। मीटिंग इतनी गोपनीय थी कि मीडिया को भी दूर रखा गया। अधिकारियों की मौजूदगी के चलते जंगल में आम लोगों का प्रवेश रोका गया।

 

As posted in Jagran.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *