Roar for Tigers

तीन दिन में वन राज्यमंत्री को नहीं दिखा बाघ

तीन दिन में वन राज्यमंत्री को नहीं दिखा बाघ

Mar 8, 2015

माधोटांडा। तीन दिवसीय दौरे पर पीलीभीत पहुंचे वन, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री फरीद महफूज किदवई माला, महोफ एवं बराही रेंज में तीन दिन तक घूमे मगर उनको बाघ के दर्शन नहीं हुए। वन राज्यमंत्री पांच फरवरी को बाइफरकेशन पहुंचे थे। शुक्रवार को उन्होंने सप्त सरोवर, महोफ रेंज का भ्रमण किया। शनिवार को चूका गए। तीन दिने में वह टाइगर रिजर्व की हरीपुर, बराही, महोफ व माला रेंज का भ्रमण किया। इस दौरान उन्हें कई वन्यजीव मिले लेकिन बाघ के दीदार नहीं हुए।
राज्यमंत्री की कार से टकराई पुलिस की जीपः

गुरुवार को लखनऊ से पीलीभीत आते समय राज्यमंत्री की गाड़ी शेरपुर की ओर मुड़ गई। जंगल से आते समय एक स्थान पर उनको कुछ वन्यजीव दिखाई दिए। इस पर उनके अचानक कार रुकवाने से पूरनपुर पुलिस की गाड़ी राज्यमंत्री की गाड़ी से टकरा गई। इससे पुलिस की गाड़ी का रेडीएटर टूट गया।

forest minister

 

आम की लकड़ी ट्राली देख भड़के किदवई

आसाम रोड से शेरपुर की ओर आते समय राज्यमंत्री को रास्ते में एक ट्राली मिली। इस पर आम की लकड़ी भरी थी। इस पर राज्यमंत्री ने उसे रुकवा लिया और डीएफओ से हरे पेड़ काटने पर स्पष्टीकरण मांगा। उनके निर्देश पर वन विभाग ने ट्राली को कब्जे में ले लिया। बाद में जुुर्माना वसूला गया।

जंगल में टूरिज्म को बढ़ावा देना गलत

वन खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री फरीद महफूज किदवई नेे कहा कि जंगल में टूरिज्म को साथ नहीं रखना चाहिए। वाहनों और मानव के प्रवेश से वन्यजीवों के स्थल प्रभावित होते हैं। वहीं टाइगर रिजर्व में बाघों की हत्या को गंभीर मामला बताया। कहा कि अगर किसी वन्यजीव की मौत जहर के कारण होती है तो इसके लिए संबंधित अधिकारी, कर्मचारी उत्तरदायी होंगे।

गुरुवार को पहुंचे थे बाइफरकेशन

तीन दिवसीय दौरे पर पहुंचे राज्यमंत्री ने बाइफरकेशन में अमर उजाला से बातचीत में कहा कि टूरिज्म और जंगल को अधिक साथ नहीं रखना चाहिए। खासकर जंगल के कोर एरिया में टूरिज्म नहीं होना चाहिए। जंगल में वाहनों और मानव के प्रवेश से वन्यजीवों खासकर बाघ के वास स्थल प्रभावित होते हैं। इसके पूर्व बाघों की मौत पर वन, खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री ने कहा कि शिकारी बाघों की हत्या के लिए पशुओं को मारकर उस पर जहर डाल देते हैं। इसकी वजह से बाघ की मौत हो जाती है। उन्होंने बताया कि इस तरह की घटनाएं विभाग की लापरवाही का नतीजा है। दोषियों पर कार्रवाई कराई जाएगी। टाइगर रिजर्व में स्टाफ की कमी के बारे में कहा कि स्टाफ की समस्या दूर कराने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार ने चयन आयोग बनाया है। जल्द ही भर्ती कराई जाएगी।

As posted in Amarujala.com
468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *