Roar for Tigers

नरभक्षी बाघिन को ढूंढेगी हथिनियां

नरभक्षी बाघिन को ढूंढेगी हथिनियां

Feb 2, 2014

उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में अपने आतंक का परिचय दे चुकी नरभक्षी बाघिन पर शिकंजा कसने के लिए दुधवा नैशनल पार्क से बढापुर रेंज पहुंची दोनो हथिनी गंगाकली व पुष्पाकली कोई साधारण हथिनी नहीं है बल्कि टाइगर को सूंघकर उसे तलाश करने की क्षमता के चलते ही उनको यहां बुलाया गया है साथ में टाइगर टेªसिंग के लिए एक्सपर्ट टीम भी यहां पहुँच गई है। मुरादाबाद मंडल में आठ लोगों को मार कर आतंक का पर्याय बनी नरभक्षी बाघिन इन दिनों बढापुर रेंज में 23 जनवरी को हाथी के बच्चे को मारकर व 26 जनवरी को देवेन्द्र को मार कर व 30 जनवरी को रामजीवाला के बशारत के पीछे भाग कर यहां सक्रिय है उसकी दहशत का असर क्षेत्र में दिखाई दे रहा है। उक्त नरभक्षी बाघिन को नियन्त्रित करने व उसको पकड़ने के लिए वन विभाग द्वारा तमाम प्रयास किए जा रहे है| हैदराबाद के शूटर शफाहत अली खां चार दिन से यहां डेरा जमाये है। इसी कडी में दुधवा नैशनल पार्क लखीमपुर खीरी से दो खास हथिनी पुष्पाकली व गंगाकली को यहां बुलाया गया है। जिनको महावत लल्लन बख्श व मौ0 अनीस नियन्त्रित कर रहे है| साथ में पीलीभीत डिवीजन के वन अधिकारी आफताब अली खां व टाईगर ट्रैकर नवेद जमाल व सैमुअल की एक एक्सपर्ट टीम है जो इन दोनो हथिनी के साथ जंगल में घूमकर नरभक्षी बाघिन को ट्रेसकर टाईगर आपरेशन को अंजाम देगी| इस पूरे आपरेशन की कमान मुख्य रूप से बढापुर रेंजर उम्मेद हसन की देख रेख में किया जा रहा है, टीम के प्रमुख आफताब अली खां के अनुसार दोनो हथिनी संूघकर टाईगर का पता लगाने मे माहिर है। इसी खासियत के चलते उनको यहां बुलाया गया है दोनो हथिनी रहमाखेडा, लखनऊ, सीतापुर, बाराबंकी आदि स्थानो पर सफलतापूर्वक आपरेशन टाइगर को अंजाम दे चुकी है। रविवार से दोनो हथिनी के साथ आपरेशन टाईगर शुरू कर दिया गया है।

As posted in pardaphash.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *