Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में अब स्वच्छंद विचरण नहीं कर सकेंगा तेंदुआ

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में अब स्वच्छंद विचरण नहीं कर सकेंगा तेंदुआ

Jun 29, 2015

पीलीभीत : अब टाइगर रिजर्व से सटे माला कॉलोनी में पकड़ा गया तेंदुआ स्वच्छंद रूप से जंगल में विचरण नहीं कर सकेगा। तेंदुआ के ठीक होने पर लखनऊ चिड़ियाघर में रखने की रणनीति बनाई जा रही है, क्योंकि उसकी उम्र भी अधिक हो रही है। तेंदुआ के पंजे व ट्यूमर का इलाज किया जा रहा है। माला वनरेंज के समीप माला कालोनी में एक पंद्रह वर्षीय तेंदुआ एक घर में घुस गया था। हमला बोलकर एक वृद्धा प्रियाबाला पोद्दार को घायल कर दिया था। इसके बाद वृद्धा के बेटे ने तेंदुआ को एक कमरे में बंद कर दिया था। पिजड़े में बंद करने के दौरान तेंदुआ के पंजे व गर्दन में गांठ जैसी चीज देखने को मिली थी। आनन-फानन में तेंदुआ को रात में ही लखनऊ चिड़ियाघर भेज दिया गया, जहां पर इलाज के दौरान उसके दो पंजों में कीड़े व गर्दन मे ट्यूमर जैसी गांठ मिली है। चिड़ियाघर के डाक्टर उत्कर्ष शुक्ल तेंदुआ का इलाज कर रहे हैं। टाइगर रिजर्व प्रशासन के मुताबिक अब माला रेंज का तेंदुआ स्वच्छंद से रूप से जंगल में फर्राटे नहीं भर सकेगा। जंगल में अन्य वन्यजीवों के साथ अठखेलियां नहीं कर पाएगा। स्वस्थ्य होने के बाद तेंदुआ लखनऊ चिड़ियाघर में ही रखा जाएगा, क्योंकि उम्र भी बढ़ रही है। उम्र बढ़ने के कारण जंगल में विचरण कर पाना काफी मुश्किल होगा। टाइगर रिजर्व के प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश का कहना है कि घायल तेंदुआ का चिड़ियाघर लखनऊ में इलाज चल रहा है। ठीक होने के बाद चिड़ियाघर में रखा जाएगा।

तेंदुआ की स्थिति गंभीर

लखनऊ चिड़ियाघर के अधिकारी डॉ.उत्कर्ष शुक्ल ने बताया कि पीलीभीत टाइगर रिजर्व से आए घायल तेंदुआ का इलाज किया जा रहा है। दो पंजों से कीड़े और ट्यूमर हटा दिया गया है, मगर तेंदुआ की हालत गंभीर बनी हुई है। स्वस्थ्य होने के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है।

 

 

As posted in Jagran.com

 

 

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *