Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व से सटी माला कॉलोनी में वनकर्मियों ने डाला डेरा

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व से सटी माला कॉलोनी में वनकर्मियों ने डाला डेरा

Jul 2, 2015

पीलीभीत। पीलीभीत टाइगर रिजर्व की माला रेंज से सटी माला कॉलोनी में लगातार तेंदुआ देखे जाने से ग्रामीण दहशत में है। गांव वालों की ओर से मिली सूचना के आधार पर वनविभाग ने भी मामले को गंभीरता से लेना शुरू कर दिया हैै। दो बच्चों के साथ घूमते दिखाई दिए तेंदुए की मानिटरिंग शुरू कर दी गई है। इसके लिए दो कर्मचारियों को गांव में निगरानी के लिए तैनात कर दिया गया है। बता दें कि जंगल से सटी माला कॉलोनी में पिछले पांच दिनों से ग्रामीण तेंदुए की दस्तक से डरे सहमें हुए है। करीब पांच दिन पहले किसान समीर पोद्दार के घर में एक तेंदुआ घुस आया। जिसने हमला कर किसान की मां को घायल कर दिया। बाद में ग्रामीणों ने तेंदुए को कमरे में बंद कर दिया था। तेंदुए को बाहर निकालने के बाद जंगल ले जाते वक्त पिंजरे के अंदर से किए हमले में डीएफओ भी घायल हो गए थे। जिसके बाद इस घायल तेंदुए की लखनऊ में इलाज के दौरान मौत हो गई। डर कम नहीं हो पाया था कि गांव में तीन दिन बाद दूसरा तेंदुआ दो बच्चों संग घूमता दिखाई दे गया। जिसने गांव के जगदीश के मकान के बाहर बंधे जानवर पर हमला किया।

-File Photo

– तेंदुए की निगरानी के लिए गांव में तैनात किए गए दो कर्मचारी
– लगातार दो दिनों बच्चों संग तेंदुआ दिखने के बाद उठाया कदम, गांव में दहशत

माला कालोनी से लगातार आ रही तेदुआ दिखने की सूचना पर विभाग गंभीर है। गांव के लोगों द्वारा तेंदुआ देखे जाने की पुष्टि होने के बाद अब वनविभाग की टीम ने गांव में डेरा डाल दिया है। डीएफओ
टाइगर रिजर्व कैलाश प्रकाश के निर्देश पर माला कालोनी में दो कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। जो गांव में तैनात रहकर तेंदुए की निगरानी में जुटे हुए हैं। गांव के कुछ लोग भी रात में एकत्र होकर वनकर्मियों का सहयोग कर रहे है। डीएफओ कैलाश प्रकाश ने बताया कि गांव में कर्मचारियों को मानिटरिंग के लिए लगाया गया है। हालांकि अभी तक विभागीय कर्मचारियों को तेंदुए की दस्तक मालूम नहीं हो सकी है।

 

 

-मुख्य संवाददाता वैभव शुक्ला की रिपोर्ट

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *