Roar for Tigers

बाघों के शिकार मामले में फंस सकते पीलीभीत टाइगर रिज़र्व के कई वनकर्मी

बाघों के शिकार मामले में फंस सकते पीलीभीत टाइगर रिज़र्व के कई वनकर्मी

Feb 23, 2015

पीलीभीत: टाइगर रिजर्व में पिछले एक साल में चार बाघों के शिकार के खुलासे के बाद विभाग ने जांच शुरू कर दी है। इस जांच में तत्कालीन रेंजर सहित कई की गर्दन फंस सकती हैं। नेपाल में बाघ की खाल सहित दो शिकारियों के पकड़े जाने के बाद वनविभाग ने एसटीएफ की मदद से 10 शिकारियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। सूत्रों के मुताबिक जेल भेजे गए शिकारियों ने पूछताछ में एक साल में चार बाघों की हत्या करना स्वीकार किया है, जिसमें अधिकांश घटनाएं बराही रेंज में हुई हैं। एक साल में चार बाघों का शिकार होने के बावजूद विभागीय अधिकारी कर्मचारियों को भनक तक न लगना उनकी कार्य प्रणाली पर बड़ा प्रश्नचिह्न है। बाघों की हत्या किए जाने का खुलासा होने पर अब वनविभाग ने इसकी जांच शुरू करा दी है। इससे विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

विभागीय सूत्रों के मुताबिक घटना के समय बराही में तैनात रहे वनक्षेत्राधिकारी एवं अन्य कर्मचारी इस जांच में फंस सकते हैं। डीएफओ कैलाश प्रकाश ने बताया कि दो कर्मचारियों को प्रारंभ में ही नोटिस दिया जा चुका है। अब जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। जांच के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि वनसंरक्षक स्तर से जांच कराई जा रही है।

 

As posted in Amarujala.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *