Roar for Tigers

गोली लगने से पीलीभीत टाइगर रिज़र्व के वन दरोगा की मौत

गोली लगने से पीलीभीत टाइगर रिज़र्व के वन दरोगा की मौत

May 22, 2015

पीलीभीत. पीलीभीत के टाइगर रिजर्व की माला रेज में तैनात वन दरोगा की शुक्रवार को संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से मौत हो गई। देर रात हुए इस हादसे में घायल दरोगा को परिजन बरेली के एक निजी अस्पताल में आनन-फानन में लेकर पहुंचे, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। थाना सुनगढ़ी के मोहल्ला सुनगढ़ी मे रहने वाले रामेंद्र सिंह टाइगर रिजर्व की माला रेंज में वन दरोगा पद पर तैनात थे। उनकी मां ऊषा देवी ने बताया कि वे मकान के निचले तल पर थीं। रात लगभग साढ़े 10 बजे छत वाले हिस्से से गोली चलने की आवाज आई। उसके तत्काल बाद बहू सोनी के चीखने की आवाज आई। उन्होंने ऊपर छत वाले कमरे में जाकर देखा तो रोमेंद्र घायल अवस्था में पड़ा था और उसके सिर से खून बह रहा था। उन्होंने बताया कि शायद रिवाल्वर चेक करने के दौरान गोली चल गई।
अस्पताल में उपचार के दौरान हुई मौत
उसे घायल अवस्था में पड़ोसियों और रिश्तेदारों की मदद से जिला अस्पताल और हालत गंभीर होने पर पीलीभीत के ही एक निजी चिकित्सालय में ले जाया गया। वहां भी चिकित्सक ने किसी उच्च चिकित्सा संस्थान ले जाने की सलाह दी। परिजन आनन-फानन में घायल रोमेंद्र को बरेली के एक निजी चिकित्सालय में लेकर पहुंचे और भर्ती करा दिया। सुबह तक उपचार चलने के बाद उसकी की मौत हो गईं।

-File Photo

सुसाइड करने का आरोप
हालांकि, दबी जुबान कुछ पड़ोसियों ने बताया कि दरोगा रामेंद्र का किसी बात को लेकर घटना से कुछ देर पहले झगड़ा हुआ था। उसके बाद ही गुस्साए दरोगा ने अपने रिवाल्वर से सिर में गोली मार ली। लेकिन, मां ऊषा की ओर से पुलिस को दी गई तहरीर में गोली लगने का कारण रिवाल्वर साफ करते समय अचानक गोली चलना बताया जा रहा है। लेकिन, रात के लगभग साढ़े 10 बजे रिवॉल्वर का साफ करना किसी के गले नहीं उतर रहा है। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
As posted in Bhaskar.com
468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *