Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में वन उपज बेंतफल से भरे ट्रक को पुलिस ने पकड़ा

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में वन उपज बेंतफल से भरे ट्रक को पुलिस ने पकड़ा

Jun 26, 2015

पीलीभीत। वपउपज बेंतफल को पीलीभीत के जंगल से ट्रक में भरकर अवैध तरीके से निकाले जाने की सूचना मिलते ही पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया। सूचना पर कार्रवाई करते हुए हजारा पुलिस ने जंगल से बाहर निकलते ही ट्रक को कब्जे में ले लिया। वनविभाग की टीम बुलाकर ट्रक में लदे सामान एवं कागजात की जांच की गई। अंत में कागजात वैध पाए जाने पर ट्रक को छोड़ दिया गया है। ट्रक की जांच पड़ताल में हुई देरी पर क्षेत्रीय लोगों ने पुलिस एवं वनविभाग की टीम पर साठगांठ का आरोप भी लगाया। बुधवार रात हजारा पुलिस को सूचना मिली कि ट्रक संख्या यूपी 31 टी/0780 में जंगल से नाजायज वस्तु को ले जाया रहा है। इसमें हजारा क्षेत्र स्थित जंगल में पाए जाने वाले बेंतफल को भी अवैध तरीके से निकालने की बात कही गई। सूचना मिलते ही हजारा एसओ भुवनेष कुमार गौतम टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। जिसके बाद जंगल से बाहर निकल रहे ट्रक को कब्जे में लेकर थाने में खड़ा करा लिया।

 

-पीलीभीत के जंगल से अवैध तरीके से निकालने की मिली थी सूचना

-वन विभाग की टीम और पुलिस ने घंटों की कागजात की जांच, सही पाए जाने पर छोड़ा 

–  लखीमपुर खीरी के संपूर्णानगर रेंज आफीसर से भी साधा गया संपर्क

पूरी रात ट्रक के थाने में खड़ा रहने के बावजूद किसी तरह की जांच पड़ताल न होने पर स्थानीय लोगों ने पुलिस पर सांठगांठ करने का आरोप लगाया। दूसरे दिन गुरूवार सुबह पुलिस ने वनविभाग के अधिकारियों को सूचना दी। इस पर कबीरगंज वन चौकी से वनरक्षक षिवराम टीम के साथ हजारा थाने पहुंचे। वनविभाग की टीम पहुंचते ही पुलिस ने ट्रक में लदे सामान को नीचे उतरवाकर जांच शुरू कर दी। ट्रक में 181 गत्ते एवं छह बोरी बैंतफल निकले। जिसके बाद टीम ने इससे संबधित कागजात चेक किए। कागजात में लखीमपुर खीरी जिले के संपूर्णानगर रेंज आफीसर के हस्ताक्षर मिलने पर उनसे फोन पर जानकारी की गई। इसमें कागजात सही पाए जाने पर पुलिस ने ट्रक को छोड़ दिया गया।

गुलदस्ते बनाने में होता है इस्तेमाल

बेंतफल की पैदावार मुख्यतः लखीमपुर खीरी के संपूर्णानगर एवं हजारा क्षेत्र स्थित टिल्ला नंबर चार के जंगल में होती है। इसका सर्वाधिक इस्तेमाल कोलकाता में गुलदस्ते बनाने के लिए किया जाता है। साथ ही बेंत बनाने के लिए इसकी लकड़ी प्रयोग में लाई जाती है। एसओ हजारा भुवनेष कुमार गौतम ने बताया कि जंगल से गलत तरीके से बेंतफल लाने की सूचना पर ट्रक को कब्जे में लिया गया। ट्रक टिल्ला नंबर चार से लोड होकर बहराइच जा रहा था। जांच में कागजात सही पाए जाने पर उसे छोड़ा गया है। रात में तेज बारिष होने के कारण जांच नहीं हो सकी। कार्रवाई में देरी और साठगांठ के आरोप पूरी तरह से निराधार है।

 

 

 

– मुख्य संवाददाता वैभव शुक्ला की रिपोर्ट

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *