Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में होंगे कई वनकर्मी इधर से उधर

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में होंगे कई वनकर्मी इधर से उधर

May 4, 2015

पीलीभीत : पीलीभीत टाइगर रिजर्व की बराही रेंज में जवान बाघ की मौत के बाद वन अफसर शिकारियों की धरपकड़ में जुटे हुए हैं। मगर लुप्तप्राय बाघ समेत सभी वन्यजीवों की सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए जल्द ही निचले स्तर के कर्मचारी इधर-उधर किए जाएंगे, जिससे वन्यजीवों की सुरक्षा बेहतर ढंग से हो सकेगी। 23 अप्रैल को टाइगर रिजर्व की बराही रेंज के हरदोई ब्रांच नहर में पांच साल के बाघ का शव बरामद किया गया था। बरेली के आइवीआरआइ में पोस्टमार्टम किया गया, लेकिन अभी तक टाइगर रिजर्व प्रशासन को पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई है। ऐसे में वन अफसर कुछ भी कहने से बच रहे हैं। वन और वन्यजीव सुरक्षा में सबसे निचला स्टाफ वाचर होता है, तो प्रत्येक बीट, कंपार्टमेंट और पगडंडियों पर विचरण करता रहता है। इस वजह से जंगल के बारे में सबसे अधिक जानकारी वन वॉचर को होती है। लुप्तप्राय बाघ समेत सभी वन्यजीवों की सुरक्षा बेहतर बनाने के लिए टाइगर रिजर्व ने रणनीति बनाई है। इसमें निचले स्तर के कर्मचारियों को तैनाती स्थल से इधर-उधर किए जाएंगे। मौजूदा समय में वॉचर गांव के ही होते हैं। ड्यूटी करने में लापरवाही बरतते हैं, जिससे वन्यजीवों पर संकट उत्पन्न होता है। टाइगर रिजर्व के प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश का कहना है कि जंगल में वन्यजीवों की सुरक्षा के लिए निचले स्टाफ को दूसरी रेंजों में भेजा जाएगा, जिससे वह बेहतर ढंग से ड्यूटी का निवर्हन कर सकेंगे। इसमें वाचर भी शामिल हैं।

-File Photo

 

शिकारियों से रहे पुराने रिश्ते

पीलीभीत टाइगर रिजर्व के बराही रेंज के वन दरोगा शिशुपाल और वनरक्षक सियाराम पर शिकारियों से बात करने का आरोप लगा था। इस मामले में वन संरक्षक ने वन दरोगा को सस्पेंड कर दिया था। मगर वनरक्षक टाइगर रिजर्व कार्यालय से संबद्ध हैं। अगर वन कर्मचारी अपनी ड्यूटी निवर्हन करने में लापरवाही बरतेंगे, तो ऐसे ही मामले सामने आएंगे।

कभी भी गिर सकती है गाज

बराही रेंज में मिले बाघ के शव मामले में विभागीय जांच चल रही है। वन्यजीव सुरक्षा मामले में लापरवाही बरतने वाले वन अफसर और कर्मचारियों पर जल्द ही कड़ी कार्रवाई हो सकती है। सिर्फ शासन से आदेश आने का इंतजार किया जा रहा है। अभी तक चार वन कर्मचारियों को सस्पेंड किया जा चुका है। इस मामले में जांच चल रही है।

 

 

As posted in Jagran.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *