Roar for Tigers

सहमति से तय होगा पीलीभीत टाइगर रिजर्व का टूरिज्म एरिया

सहमति से तय होगा पीलीभीत टाइगर रिजर्व का टूरिज्म एरिया

May 5, 2014

पीलीभीत : यहां केजंगलों को वन्य जीव विहार घोषित किए जाने के बाद यहां ईको टूरिज्म के लिए एरिया निर्धारित करने का प्रस्ताव वन विभाग, ग्राम पंचायतों, जिला पंचायत के प्रतिनिधियों की सहमति से तय किया जाएगा। जिलाधिकारी ने इसके लिए अपर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में समिति का गठन कर दिया है। रविवार को अपराह्न कलक्ट्रेट स्थित गांधी सभागार में हुई कार्यशाला में कहा गया कि पीलीभीत टाइगर रिजर्व घोषित हो रहा है। इसलिए यहां ईको टूरिज्म को बढ़ावा देने की अपार संभावनाएं हैं। वन विभाग ने जंगल में वन्य जीवों के वास स्थल से अलग दस किमी क्षेत्रफल ईको टूरिज्म के लिए प्रस्तावित किया। बाद में कार्यशाला में विचार विमर्श के बाद पांच किमी क्षेत्रफल की बात कही गई। इस पर जिलाधिकारी ओम नारायण सिंह ने कहा कि इस तरह से एरिया तय करना उचित नहीं रहेगा। इसके लिए सभी की सहमति से निर्णय लिया जाना बेहतर होगा।

जिलाधिकारी ने पूरनपुर के अपर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कमेटी का गठित कर दी। इस कमेटी में वन विभाग के अधिकारी, जिला पंचायत सदस्य, संबंधित ग्राम पंचायतों के प्रधान आदि शामिल रहेंगे। यह कमेटी अध्ययन करने के बाद प्रस्ताव देगी कि कितने क्षेत्रफल को ईको टूरिज्म के लिए निर्धारित किया जाए। डीएम ने कहा कि इस मामले में जनप्रतिनिधियों से भी मशविरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जो भी एरिया तय किया जाएगा, उसमें किसी तरह की कोई इंडस्ट्री नहीं लगेगी। उन्होंने कहा कि कमेटी की ओर से रिपोर्ट मिलने तथा लोकसभा चुनाव की मतगणना समाप्त हो जाने के बाद शासन को प्रस्ताव भेजा जाएगा। कार्यशाला में अपर जिलाधिकारी आलोक सिंह, प्रभागीय वनाधिकारी राजीव मिश्रा समेत अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

 

As posted in Jagran.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *