Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में कुत्तों के हमले में घायल चीतल की मौत

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में कुत्तों के हमले में घायल चीतल की मौत

May 7, 2015

पीलीभीत : बरखेड़ा ब्लाक क्षेत्र के मुड़िया हुलास में जंगल से भटककर आए चीतल को कुत्तों ने हमला कर घायल कर दिया। बरेली ले जाते समय घायल चीतल की मौत हो गई। इस मामले की सूचना आला अफसरों को दे दी गई है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व ही नहीं सामाजिक वानिकी क्षेत्र में वन्यजीवों की बहुतायत है। मगर शासन स्तर से इन वन्यजीवों की सुरक्षा के लिए कोई प्लान नहीं है। इसी वजह से आएदिन वन्यजीवों की मौत हो रही है। पिछले दिनों शाही के पास काले हिरन की अज्ञात वाहन की टकराकर मौत हो गई है। इसके बाद निगोही ब्रांच नहर में एक चीतल का शव बरामद किया गया। मंगलवार की शाम चार बजे बरखेड़ा क्षेत्र के मुड़िया हुलास गांव में जंगल से भटक कर एक चीतल आ गया, जिसकी उम्र करीब ढाई साल होगी। गांव में चीतल को कुत्तों ने दौड़ा कर घायल कर दिया। इस मामले की वन विभाग को सूचना दी गई। वन दरोगा रमाकांत सक्सेना, वनरक्षक जोगा सिंह दलबल के साथ गांव पहुंचे और घायल चीतल को कब्जे में लिया। घायल चीतल का बरखेड़ा के पशु अस्पताल में इलाज कराया गया, जहां से उसे आईवीआरआई बरेली ले जाया जा रहा था। रास्ते में चीतल ने दमतोड़ दिया। प्रभागीय निदेशक आदर्श कुमार ने बताया कि चीतल वन्यजीव काफी संवेदनशील होता है। अक्सर सदमें में आकर मौत हो जाती है। क्षेत्र के वन कर्मियों को एलर्ट कर दिया गया है।

 

 

As posted in Jagran.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *