Roar for Tigers

गर्मियों की छुट्टियों में चले आइए पीलीभीत… चूका बीच का उठाएं आनंद

गर्मियों की छुट्टियों में चले आइए पीलीभीत… चूका बीच का उठाएं आनंद

Apr 15, 2016

पीलीभीत : स्कूल-कॉलेजों में छुट्टियां होने के बाद बच्चे पहाड़ी इलाका व जंगल की सैर को परिवार के साथ निकलते हैं। सैर के दौरान बच्चे परिजनों के साथ जमकर आनंद उठाते हैं। तराई क्षेत्र का चूका बीच ईको टूरिज्म हर किसी को अपनी ओर बरबस आकर्षित करता है। बाइफरकेशन की कल-कल करती नहरें लोगों को वाह कहने पर मजबूर कर देती हैं। नेपाल देश से सटा पीलीभीत टाइगर रिजर्व का जंगल दूर देश-विदेश में प्रसिद्ध है, जहां पर 44 से अधिक टाइगर स्वच्छंद विचरण करते रहते हैं। इनकी सुरक्षा के लिए वन कर्मियों की ड्यूटी लगी है। हर साल हजारों की संख्या में पर्यटक टाइगर रिजर्व के चूकाबीच, सप्त सरोवर, बाइफरकेशन आदि स्थलों का भ्रमण कर प्राकृतिक सुंदरता का लाभ उठाते हैं। 15 नवंबर से 15 जून तक चूकाबीच में हट्स की बुकिंग अमूमन फुल रहती है। हट्स आदि बुकिंग कराने के लिए पर्यटकों को टाइगर रिजर्व कार्यालय में लिखित में प्रार्थनापत्र देना होता है।

इसके बाद ही हट़्स की बुकिंग फाइनल होती है। अब स्कूल-कालेजों में छुट्टी होने वाली है। ऐसे में चूकाबीच समेत जंगल के अन्य स्थलों पर पर्यटकों की संख्या में जबर्दस्त बढ़ोत्तरी होगी। गर्मियों के सीजन में लोगों को जंगल में ही राहत महसूस होती है। हरियाली के बीच अपने को सुकून महसूस किया जा सकता है। टाइगर रिजर्व का जंगल 15 जून तक पर्यटकों के लिए खुला हुआ है। इस तिथि के बाद किसी भी पर्यटक को कोई परेशानी नही होगी। उप प्रभागीय वनाधिकारी डीपी सिंह ने बताया कि चूकाबीच, सप्त सरोवर, बाइफरकेशन समेत कई घूमने के स्थल हैं, जहां पर परमिट लेने के बाद ही घूमा जा सकता है। इसके लिए प्रत्येक पर्यटक को टाइगर रिजर्व में प्रार्थनापत्र देना होगा। इसके बाद अनुमति पत्र मिलेगा, जो पास माना जाता है। जंगल के अंदर किसी प्रकार का मांस, मंदिरा, आग्नेयास्त्र ले जाने पर पूरी तरह पाबंदी है। पॉलीथीन का प्रयोग भी नहीं किया जा सकता है। प्रयोग करने पाने पर जुर्माना के भागीदार होंगे।

प्रमुख स्थल

चूकाबीच ईको टूरिज्म स्पाट : 47 किलोमीटर।

सप्त सरोवर : 43 किलोमीटर

मुस्तफाबाद अतिथि गृह : 36 किलोमीटर।

बाइफरकेशन नहर जंक्शन : 37 किलोमीटर।

 

 

 

As posted in Jagran.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *