Roar for Tigers

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व को जाने वाले सभी रोड जर्जर

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व को जाने वाले सभी रोड जर्जर

Jul 18, 2015

पीलीभीत : पीलीभीत टाइगर रिजर्व को जाने वाले सभी रोड जर्जर हालत में पड़े हुए हैं। रोड में गहरे-गहरे गड्ढे होने की वजह से पर्यटकों को पहुंचने में घंटों का समय लग रहा है। गड्ढों में वाहन चलने से स्वास्थ्य खराब हो रहा है। इस संबंध में टाइगर रिजर्व प्रशासन ने कई माह पहले निर्माण एजेंसियों को पत्र लिखा था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। कई दिन पहले मुख्य सचिव आलोक रंजन ने वन अफसरों की बैठक लेकर टाइगर रिजर्व व नेशनल पार्क को जाने वाले रोड सुधारने के निर्देश अफसरों को दिए हैं। प्रदेश में दुधवा नेशनल पार्क लखीमपुर खीरी व पीलीभीत टाइगर रिजर्व है, जहां पर हर साल हजारों की संख्या में पर्यटक प्रकृति का आनंद उठाने के लिए आते हैं। यहां पर हिचकोले व गड्ढों वाली रोड होने की वजह से एक बार पर्यटक आने के बाद दुबारा विचार नहीं करता है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व को जाने वाली पीलीभीत से बनकटी रोड, पीलीभीत से माधोटांडा रोड व पूरनपुर से खटीमा रोड जर्जर हालत में पड़ी हुई है। इस रोड पर वाहन तो दूर की बात पैदल चलना मुश्किल हो रहा है। माधोटांडा होकर टाइगर रिजर्व तक पहुंचने का सीधा रास्ता है। रोड खराब होने की वजह से पर्यटकों को घंटों में सफर तय करना पड़ रहा है। रोड के नाम पर गलियारा बचा है, जहां पर पत्थरों के टुकड़े रोड होने की गवाही दे रहे हैं। वहीं बरखेड़ा विधायक के गांव को जाने वाली बनकटी रोड का हाल बुरा है। शहर के सिविल लाइंस चौकी के पास से ही रोड में गहरे गहरे गड्ढे हो गए हैं।

0

-File Photo

बनकटी के आगे करीब दो किलोमीटर क्षेत्र में रोड ही नहीं है, जो जिला पंचायत के कार्यक्षेत्र में आता है। जर्जर रोडे भी पयर्टकों को टाइगर रिजर्व आने से रोकती हैं। इन रोडों को पीडब्ल्यूडी, आरईएस व जिला पंचायत ने बनवाया था। रोड मरम्मत के लिए टाइगर रिजर्व के प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश ने कई माह पहले संबंधित एजेंसियों के अधिशासी अभियंताओं को पत्र लिखकर मांग की थी, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई शुरू नहीं किया गया। प्रभागीय वनाधिकारी ने बताया कि टाइगर रिजर्व को जाने वाली रोड की मरम्मत कराई जाएगी। निर्माण एजेंसियों से मरम्मत कराने के लिए दुबारा प्रयास किए जाएंगे।

 

As posted in Jagran.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *