Roar for Tigers

शिकारी होने की सूचना पर पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में अलर्ट

शिकारी होने की सूचना पर पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में अलर्ट

Jul 17, 2015

पीलीभीत। बरसात के मौसम में पीलीभीत टाइगर रिजर्व में शिकारी सक्रिय होकर घटना को अंजाम दे सकते है। जंगल से सटे इलाकों में शिकारियों के होने की सूचना मिली है। जिसके आधार पर पीलीभीत टाइगर रिजर्व में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। वनविभाग की टीम आसपास के गांव में छापामार कार्रवाई कर संदिग्धों की तलाश में जुट गई है। इधर सुरक्षा एजेंसियों से मिली जानकारी के बाद वन क्षेत्राधिकारियों की बैठक कर डीएफओ टाइगर रिजर्व कैलाश प्रकाश ने निगरानी के सख्त निर्देष दिए है। अफसर खुद पूरे प्रकरण की गंभीरता से मानिटरिंग कर रहे है।

ddd

– सुरक्षा एजेंसियों ने चेताया, बरसात में हो सकते हैं सक्रिय

– जंगल से दर्जन भर गांवों में हुई संदिग्धों की तलाश

– डीएफओ ने पांचों रेंज के क्षेत्राधिकारियों संग की बैठक
टाइगर रिजर्व घोषित किए गए पीलीभीत के जंगल में पूर्व में ही शिकारी दस्तक दे चुके है। ऐसे में वन्यजीवों के शिकार को लेकर विभाग खासा पैनी नजर रखता है। एक बार फिर टाइगर रिजर्व प्रशासन को शिकारियों का खतरा सताया है। सुरक्षा एजेंसियों से टाइगर रिजर्व प्रशासन को शिकारियों के बारे में सूचनाएं दी गई है। यह भी बताया गया है कि बरसात के मौसम में कुछ शिकारी जंगल में सक्रिय होकर वारदात को अंजाम दे सकते है। जिसके बाद डीएफओ टाइगर रिजर्व ने अलर्ट घोषित कर दिया है। टाइगर रिजर्व की समस्त पांचों रेंज से सटे इलाकों में छानबीन भी शुरू कर दी गई है। टीम ने एक दर्जन गांवों में छापामार अभियान चलाकर संदिग्ध लोगों की तलाश की, लेकिन कहीं भी संदिग्ध हत्थे नहीं चढ़ सके। जिसके बाद विभाग राहत महसूस कर रहा है। इधर डीएफओ कैलाश प्रकाश ने समस्त वन क्षेत्राधिकारियों संग बैठक की। जिसमें जंगल की सुरक्षा के प्रति सजग एवं गंभीर रहने के निर्देष दिए। संदिग्ध एवं जेल से छूटकर आने वाले अपराधियों की निगाहबानी करने को भी कहा। डीएफओ कैलाश प्रकाश ने बताया कि सुरक्षा के तहत गंभीर कदम उठाए जा रहे है। टीम लगातार गांवों में जाकर शिकारियों की तलाश कर रही है, पर अभी तक कुछ सामने नहीं आ सका है।

 

 

मुख्य संवाददाता वैभव शुक्ला की रिपोर्ट

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *