Roar for Tigers

वॉचर हटाए जाने के बाद अब पीलीभीत टाइगर रिजर्व में लगेंगे 75 सेंसर कैमरे

वॉचर हटाए जाने के बाद अब पीलीभीत टाइगर रिजर्व में लगेंगे 75 सेंसर कैमरे

Nov 7, 2015

पीलीभीत। पीलीभीत टाइगर रिजर्व की सुरक्षा को लेकर अधिकारी गंभीर है। बड़ी संख्या में वाचरों के हटाए जाने के बाद जंगल में शिकारियों की पैठ न बन सके, इसके लिए कदम उठाना शुरू कर दिया गया है। जंगल की एकाएक हलचल पर निगाह रखने के लिए सेंसर कैमरों का इस्तेमाल किया जाएगा। संवेदनशील प्वाइंटों को चिन्हित कर कुल 75 सेंसर कैमरे लगाए जाएंगे। इसकी खरीद विभाग की ओर से की जा चुकी है। शुरूआत में सामाजिक वानिकी प्रषासन को 25 कैमरे मुहैया कराए गए है। जिनको चिन्हित प्वाइंटों पर लगाने का काम शुरू कर दिया गया है। पीलभीत का जंगल टाइगर रिजर्व घोषित हुए एक साल पूरा कर चुका है। हाल ही में बाद्यों की गणना घोषित होने के बाद 44 की संख्या सामने आई। जिसके बाद से वन्यजीव प्रेमियों में हर्ष की लहर है। इस बीच कुछ समय पहले करीब डेढ़ सौ वाचर हटाए गए। जिसक बाद से जंगल एवं वन्यजीवों की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े किए जाने लगे।

camera

इधर विभाग की ओर से सुरक्षा के उपाय तलाशने का काम किया गया। लंबे विचार विमर्श के बाद टाइगर रिजर्व प्रषासन की ओर से वाचरों की तैनाती तक निगाहबानी का रास्ता तलाषा गया। जंगल की पांच रेंजों को तीसरी आंख की जद में रखा जाएगा। ऐसे स्थान जहां पर वन्यजीवों की आवाजाही अधिक रहती है। या फिर षिकारियों की दस्तक का खतरा बना है। इन स्थानों का चिन्हितीकरण किया जाएगा। जिसके बाद सेंसर कैमरे लगाकर जंगल की एकाएक हलचल को कैमरे में कैद किया जाएगा। अभी कुल 75 कैमरे लगाए जाएंगे। उक्त कैमरों की क्वालिटी बेहतर रहेगी। रात के अंधेरे में भी इनमें स्पष्ट तस्वीरें आ सकेंगी। इसके अलावा कैमरों की चिप को भी निष्चित समय पर चेक किया जाएगा। पूरा डाटा वनविभाग के अधिकारियों के पास फीड रहेगा। एक कैमरे की कीमत बीस से पच्चीस हजार रूपये बताई जा रही है। शुरूआत में पीलीभीत टाइगर रिजर्व प्रशासन की ओर से सामाजिक वानिकी प्रभाग को 25 कैमरे दिए गए है। जिनको लगाने का काम अमरिया क्षेत्र में शुरू कर दिया गया है। उप-संभागीय अधिकारी डीपी सिंह ने बताया कि जंगल की सुरक्षा व्यवस्था सख्त रखने के लिए कदम उठाया जा रहा है। कर्मचारियों की संख्या बढाने को लेकर भी विभागीय प्रयास जारी है। सेंसर कैमरों के जरिए जंगल की हरएक हलचल पर निगाह रखी जाएगी।

 

 

 

 

 

Sr. Reporter, Vaibhav Shukla

Tiger Reserve Pilibhit Bureau

 

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *