Roar for Tigers

टाइगर रिज़र्व में बाघ का शिकार कर नेपाल भागा तस्कर अंगों के साथ गिरफ्तार

टाइगर रिज़र्व में बाघ का शिकार कर नेपाल भागा तस्कर अंगों के साथ गिरफ्तार

Sep 1, 2015

पीलीभीत : यहां बाघ का शिकार करने के बाद उसके अंगों की तस्करी के लिए नेपाल पहुंचे शिकारी पकड़ लिए गए। पूछताछ में उन्होंने यहां रहने वाले चार लोगों के नाम कबूले हैं। ये लोग शिकार करने के मामले में उनकी मदद करते रहे हैं। वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो ने इस खुलासे के बाद पीलीभीत टाइगर रिजर्व समेत दुधवा नेशनल पार्क व जिम कार्बेट नेशनल पार्क में एलर्ट घोषित कर दिया है।

बीते साल मार्च महीने में गभिया सहराई निवासी दुलाल मंडल अपने साथी के साथ नेपाल के एक शहर में बाघ की खाल व हड्डियों समेत पकड़ा गया था। तब उसने यहां रह रहे अनेक सहयोगियों के नाम गिनाए थे। इसके बाद पीलीभीत टाइगर रिजर्व प्रशासन ने छापेमारी कर कई शिकारियों को जेल भेजने में कामयाबी पाई थी। अभी भी कई शिकारी टाइगर रिजर्व की गिरफ्त से बाहर घूम रहे हैं। इसी बीच बीते हफ्ते नेपाल के धनगढ़ी में शेर बहादुर व वीर बहादुर के पास से नेपाल पुलिस ने टाइगर व तेंदुआ की खाल व कुछ मात्रा में हड्डी बरामद की थी।

china_tiger

Symbolic Picture

इसके बाद एसटीएम ने पूछताछ की, जिसमें पीलीभीत जनपद के चार लोगों के नाम उजागर किए हैं। इस घटना के बाद टाइगर रिजर्व में हड़कंप मच गया है, क्योंकि इस पूरे प्रकरण में वन विभाग के कई लोग शक के दायरे में हैं। उधर, पता चला है कि कुख्यात तस्कर दुलाल मंडल कोर्ट से जमानत पर जेल से बाहर आ चुका है। इस घटना के बाद वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो नई दिल्ली ने पीलीभीत टाइगर रिजर्व, दुधवा नेशनल पार्क व उत्तराखंड के जिम कार्बेट नेशनल पार्क में एलर्ट जारी कर दिया है। इस संबंध में संबंधित टाइगर रिजर्व के अफसरों को आदेश भेज दिए गए हैं। पीलीभीत टाइगर रिजर्व के प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश का कहना है कि धनगढ़ी में बीते हफ्ते दो शिकारियों को नेपाल पुलिस ने पकड़ा था। उनकी निशानदेही पर कुछ नाम यहां के आ रहे हैं। इसको लेकर जंगल में एलर्ट घोषित कर दिया गया है। सभी फील्ड कर्मचारियों को सख्त निर्देश दे दिए गए हैं।

 

 

As posted in Jagran.com

468 ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *