Roar for Tigers

English News

Forest dept to conduct survey for counting bird species

Posted by on Nov 16, 2014

BAREILLY: The Pilibhit Tiger Reserve is set to have its first bird watching event as the forest department along with the Katerniaghat foundation is organizing a survey on November...

Read More

Big News

Chuka spot in Pilibhit Tiger Reserve was one man’s dream

Posted by on Nov 18, 2014

PILIBHIT: Chuka spot in Pilibhit Tiger Reserve has been thrown open for tourists just a few days ago, but few people know that a dedicated forest officer almost single-handedly...

Read More

Hindi News

कोई भी बुक करा सकेगा पीलीभीत टाइगर रिज़र्व के वीवीआइपी गेस्ट हाउस

Posted by on Nov 18, 2014

पीलीभीत : जंगल के बीच बने वनविभाग के खूबसूरत अतिथि गृहों के कपाट अभी तक सिर्फ बड़े अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के लिए ही खुलते थे लेकिन अब आम आदमी भी इनकी बु¨कग करा सकेगा। टाइगर...

Read More

Latest News

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में यूरोप से आई गुलाबी मैना

Posted by on Nov 21, 2014

पूरनपुर : पंक्षी, नदिया, पवन के झोंके, कोई सरहद न इन्हें रोके..। रिफ्यूजी फिल्म का यह गाना पूरनपुर की तराई में खूब गुनगुनाया जा रहा है। यहां पर इस समय विदेशी पक्षियों की आवक का...

Read More

Recent Posts

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में यूरोप से आई गुलाबी मैना

पीलीभीत टाइगर रिज़र्व में यूरोप से आई गुलाबी मैना

Nov 21, 2014

पूरनपुर : पंक्षी, नदिया, पवन के झोंके, कोई सरहद न इन्हें रोके..। रिफ्यूजी फिल्म का यह गाना पूरनपुर की तराई में खूब गुनगुनाया जा रहा है। यहां पर इस समय विदेशी पक्षियों की आवक का सिलसिला जारी है। अब तक नेपाली और साइबेरियन पक्षी के अलावा यूरोप की गुलाबी मैना भी आ गई है। भारतीय पक्षी मैना से कुछ मिलती जुलती इस पक्षी के आने से वन क्षेत्र की शोभा और बढ़ गई है और...

Chuka spot in Pilibhit Tiger Reserve was one man’s dream

Chuka spot in Pilibhit Tiger Reserve was one man’s dream

Nov 18, 2014

PILIBHIT: Chuka spot in Pilibhit Tiger Reserve has been thrown open for tourists just a few days ago, but few people know that a dedicated forest officer almost single-handedly developed the site, without any help from the state government. Way back in December 2002, the then divisional forest officer Ramesh Pandey took it upon himself to develop the spot,...